PM मोदी के मुरीद हुए डोनाल्ड ट्रंप, अचानक UN में सुनने पहुंच गए भाषण.

Spread the love

डोनाल्ड ट्रंप लगभग 15 मिनट तक शिखर सम्मेलन में रहे. हालांकि, उन्होंने सत्र को संबोधित तो नहीं किया, लेकिन उन्होंने पीएम मोदी और जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल के भाषण जरूर सुने.

Donald Trumph Listen Modi
 
  • 15 मिनट तक शिखर सम्मेलन में मौजूद रहे डोनाल्ड ट्रंप
  • ट्रंप ने पीएम मोदी और एंजेला मर्केल का भाषण सुना

अमेरिका के न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सोमवार को जलवायु परिवर्तन से जुड़े एक सत्र को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया. पीएम मोदी के भाषण को सुनने के लिए यहां अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी पहुंचे. दिलचस्प बात ये है कि ट्रंप का यहां पहुंचना पहले से तय नहीं था, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति सबको चौंकाते हुए पीएम मोदी का भाषण सुनने पहुंच गए.

डोनाल्ड ट्रंप लगभग 15 मिनट तक शिखर सम्मेलन में रहे. हालांकि, उन्होंने सत्र को संबोधित तो नहीं किया, लेकिन उन्होंने पीएम मोदी और जर्मनी की चांसलर एजेंला मर्केल के भाषण जरूर सुने. दोनों नेताओं के भाषण सुनने के बाद ट्रंप यूएन मुख्यालय से रवाना हो गए.

इससे पहले रविवार को ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में भी डोनाल्ड ट्रंप शामिल हुए थे, जहां उन्होंने 30 मिनट का भाषण भी दिया था. इसके अलावा वो पीएम मोदी को भी सुनने के लिए वहां पर मौजूद रहे.

कार्यक्रम में पूरी दुनिया ने प्रधानमंत्री मोदी और ट्रंप की दोस्ती का जलवा देखा है. भारत के प्रधानमंत्री ने अमेरिका में कहा कि इस्लामिक आतंकवाद से लड़ाई में डोनाल्ड ट्रंप पूरी तरह से भारत के साथ हैं. साथ ही पीएम मोदी ने इस मंच के जरिए कश्मीर के मुद्दे पर दखल देने के लिए पाकिस्तान पर निशाना साधा.

पीएम मोदी ने संबोधन में क्या कहा

जलवायु परिवर्तन पर अपनी बात रखते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अब बात करने का समय खत्म हो चुका है, अब दुनिया को करके दिखाना होगा. पीएम मोदी ने कहा कि हमने पर्यावरण की रक्षा के लिए कदम उठाए हैं. हमने सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया है.

पीएम मोदी ने कहा कि हमें स्वीकार करना चाहिए कि अगर हमें इस तरह की गंभीर चुनौती से पार पाना है तो हम आज जो कर रहे हैं वह पर्याप्त नहीं है. भारत आज सिर्फ इस गंभीर मुद्दे पर बात करने के लिए नहीं है, बल्कि एक रोडमैप प्रस्तुत करने के लिए है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *