सचिवालय से सस्ता प्याज लेकर रवाना दिल्ली के विधायक, राशन की दुकानों पर बिक्री.

Spread the love

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रारंभिक तौर पर प्रतिदिन सौ लाख टन प्याज का इंतजाम किया है. जरूरत के हिसाब से इसकी समीक्षा होगी. भविष्य में जरूरत बढ़ी तो प्याज का स्टांक बढ़ाया जाएगा. एक व्यक्ति को अधिकतम पांच किलो प्याज एक दिन में मिलेगा.

  • 70 विधानसभाओं में भेजे प्याज से भरे मिनी ट्रक
  • प्रतिदिन सौ लाख टन प्याज का इंतजाम
  • प्याज बेचने का काम सुबह दस से शाम पांच बजे तक

दिल्ली मे महंगे प्याज से राहत दिलाने के लिए केजरीवाल सरकार ने तमाम 70 विधानसभाओं में प्याज से भरे मिनी ट्रक भेजना शुरू कर दिया है. इन मोबाइल वैन में आम आदमी पार्टी के विधायक मौजूद रहे. उन्हें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को दिल्ली सचिवालय से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. सरकार का दावा है कि चार सौ राशन दुकानों पर भी प्याज बेचा जा रहा है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रारंभिक तौर पर प्रतिदिन सौ लाख टन प्याज का इंतजाम किया है. जरूरत के हिसाब से इसकी समीक्षा होगी. भविष्य में जरूरत बढ़ी तो प्याज का स्टॉक बढ़ाया जाएगा. एक व्यक्ति को अधिकतम पांच किलो प्याज एक दिन में मिलेगा. प्याज बेचने का काम सुबह दस से शाम पांच बजे तक होगा इसके लिए कोई भी पहचान पत्र नहीं चाहिए. कोई भी व्यक्ति प्याज खरीद सकता है.

मुख्यमंत्री अरविंद  केजरीवाल ने शनिवार को मोबाइल वैन रवाना करने के दौरान कहा, ‘दिल्ली में खुदरा बाजार में 70-80 रुपये किलो मिल रही थी . लोगों के खाने का जायका बना रहे. साथ ही प्याज आंसू भी न निकाले इसके लिए हमने 23.90 रुपये किलो प्याज बेचने का निर्णय लिया. सभी 70  विधानसभा क्षेत्र में एक मोबाइल वैन जाएगी जिसे संबंधित विधायक लेकर अपने विधानसभा क्षेत्र में निकले.

क्वालिटी कंट्रोल के लिए अधिकारी नियुक्त

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘अभी केंद्र सरकार से जैसा प्याज आ रहा है, उसे सीधा बाजार में उतारा गया है. भविष्य में प्याज की क्वालिटी कंट्रोल के लिए दिल्ली सरकार के दो अधिकारी नागपुर जाएंगे. वह अच्छी क्वालिटी का प्याज ही दिल्ली के लिए लोड कराएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्याज की जमाखोरी करने वालों पर भी सरकार की नजर है. सरकार लगातार ऐसे लोगों पर नजर रख रही है. आगे भी जमाखोरी के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *